Expert Review: गांगुली ने कहा- धोनी को ऊपर खिलाना था, मोदी बोले- जीत-हार जीवन का एक हिस्सा

सेमीफाइनल में भारत, न्यूजीलैंड से 18 रन से हारकर वर्ल्ड कप से बाहर हो गया। विराट कोहली ने मैच के बाद कहा- 45 मिनट के खराब क्रिकेट ने हमें वर्ल्ड कप से बाहर कर दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परिणाम को निराशाजनक बताया। मोदी ने ट्वीट किया- टीम इंडिया के जुझारूपन को देखकर अच्छा लगा। धोनी के संन्यास से जुड़े सवाल पर कोहली ने कहा- उन्होंने भविष्य की योजनाओं के बारे में हमें कुछ नहीं बताया। कोहली ने कहा- हमें लगता है कि हमारे पास मौका था, लेकिन न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को श्रेय देना चाहिए। रवींद्र जडेजा और महेंद्र सिंह धोनी ने अच्छी साझेदारी की। धोनी का रन आउट होना मैच का टर्निंग पाइंट रहा। हालांकि, हमने पूरे टूर्नामेंट में अच्छा खेल दिखाया।

जीत-हार जीवन का एक हिस्सा- मोदी

मोदी ने कहा,”भारत ने पूरे टूर्नामेंट में अच्छी बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग की, जिस पर हमें बहुत गर्व है। जीत और हार जीवन का एक हिस्सा है। टीम को उनके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं।”

धोनी ही समझा सकते थे बारीकियां – गांगुली

गांगुली ने कहा, ‘‘जडेजा के अच्छा खेलने की एक वजह ये भी थी कि दूसरे छोर पर धोनी थे। अगर 3 विकेट गिरने के बाद पंत के साथ दूसरे छोर पर धोनी होते तो यकीनन ये साझेदारी मैच को आगे ले जाती। धोनी दूसरे छोर पर पंत को समझाते रहते। पंत और पंड्या ओल्ड ट्रैफर्ड में हवा की दिशा के विपरीत शॉट खेलकर आउट हुए। वे धोनी ही थे, जो दूसरे छोर पर इन युवा खिलाड़ियों को ऐसा बारीकियां समझा सकते थे। इस मैच से हमें जडेजा की अहमियत को भी समझना होगा। आप टीम में कितने भी चाइनामैन और लेग स्पिनर ले आएं, लेकिन रवींद्र जडेजा वनडे टीम का अहम हिस्सा हैं।’’

दूसरे खिलाड़ियों को भी जिम्मेदारी लेनी होगी: तेंदुलकर

सचिन ने कहा, ‘‘240 रन चेज नहीं कर पाना निराश करने वाला है। हर बार रोहित या कोहली टीम को जीत नहीं दिला सकते। दूसरे खिलाड़ियों को भी जिम्मेदारी उठानी होगी। पहली बार हमारे टॉप-3 खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके। न्यूजीलैंड के खिलाफ ऋषभ पंत, दिनेश कार्तिक और हार्दिक पंड्या अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे। यह भी अच्छा नहीं कि धोनी हर बार हमें जीत दिलाएं। कई बार वे मैच जिताने वाली पारी खेल चुके हैं।’’

2,197 total views, 1 views today

You May Also Like