किसको चुनें और किस्से किनारा करें हम

लेखक –उमैर सिद्दीकी , हुसैन गंज लखनऊ

किसको चुनें और किस्से किनारा करें हम

अपने ही हांथों से कब तक अपना ही ख़सारा करें हम

द्वारा जिनके कई बार छले गए हैं

उन नेताओं पे कैसे भरोसा दोबारा करें हम

हैं कितने मज़बूर की रखते हुवे ताकते चुनावों भी आखिर

कब तक यूँ ही चोरों को सिंघासन पे बैठाया करें हम

जिनके वादों का अमल में आना आज तक दुश्वार रहा हो

अब किस बिना पे आगे उन्हीं नेताओं को गद्दी पे बैठाया करें हम

बना कर जिन्हें अपना वकील हम संसद में भेजा करते हैं

बाद जीतनें के कहते हैं वही नेता मियाँ कियूंकर तुमसे मिला करें हम

 उमैर इस नज़ामें जम्हूरियत में खाइयां कुछ यूँ गहरा चुकीं हैं 

ऐसा लगता है जो सुधारना हो हुकूमत तो नज़ामें खिलाफत क़ायम करें हम

इनकी तरह आप भी अपनी रचना हमे भेज सकते है। हम उन्हें प्रकाशित करेंगे आपके नाम और तस्वीर के साथ। अपनी रचना orsunaonewsportal@gmail.com पर भेज सकते है।

You May Also Like