JABALPUR : मानस भवन में दिव्यांग हीरोस ने दिखाया जलवा, डांस से लेकर रैंप वाक में भी माहिर

जिनकी आंखें नहीं होतीं, उनकी दुनिया अंधेरी होती है लेकिन सपने सुनहरे। इस बात को शुक्रवार की शाम मानस भवन में दिव्यांग हीरोज ने साकार कर दिया। उन्होंने जमकर दिखाया अपना दम और वाकई साबित कर दिया कि वे नहीं हैं किसी से कम। एक के बाद एक बेहतरीन प्रस्तुतियों से दर्शकों का दिल जीतते दिव्यांगों का हौसला देखने लायक रहा। सभी प्रस्तुतियां लाजवाब रहीं। 
 इस तरह संस्कारधानी के इतिहास में इस कार्यक्रम ने एक प्रतिमान दर्ज कर दिया। प्रभावी एंकरिंग में मास्टर सारिका नायक और रंगकर्मी एक्टिविस्ट राकेश कुरेले ने कार्यक्रम का रोचक तरीके से आगाज किया। 

हौसले को बढ़ाने के लिए उम्दा मंच

 कार्यक्रम के मुख्य अतिथि लखन घनघोरिया ने कहा कि हम घोषणा मात्र नहीं करते बल्कि वचन देते हैं कि अमर विकलांग व पुनर्वास केन्द्र जमीन खोज ले, उसे हम मुहैया करा देंगे। उन्होंने यह भी कहा कि रिश्ते बनान बड़ी बात नहीं बल्कि निभाना बढ़ी बात होती है। इस लिहाज से आज का कार्यक्रम यादगार रहेगा। ऐसा इसलिए क्योंकि दिव्यांगों से न केवल संवेदना का रिश्ता कायम किया गया बल्कि उनके हौसले को बढ़ाने के लिए उम्दा मंच तैयार किया गया है। इससे उनकी रचनात्मकता को पंख मिलेंगे। विशिष्ठ अतिथि विधायक विनय सक्सेना ने भी आयोजकों की तहेदिल से तारीफ की। इस दौरान नि:शक्तजन पूर्व कमिश्नर बलदीप मैनी, हैल्पिंग हैंड्स की हंसा बेन शाह, विकलांग सेवा भारती की मिताली बैनर्जी, स्नेह संपदा भिलाई की पुष्पा सिर्क, भेड़ाघाट के रहमान खान और सुदेशना के आईकॉन सुरेन्द्र दुबे को लीक से हटकर किए जा रहे समाजसेवी कार्यों के लिए सम्मानित किया गया।

स्नेह जाट की मेहनत रंग लाई-

पॉलिटेक्निक कॉलेज के स्नेह कुमार जाट ने फैशन शो कलेक्शन के लिए डिफ्रेंट करने का संकल्प लिया था। वूमेन्स-डे के परिप्रेक्ष्य में स्पेशल तैयारी की गई थी। जिसकी कसौटी पर खरा उतरते हुए कमाल कर दिया गया। मैजिकल एंजिल, ब्लैक फेंटेसी में ब्लैक एंड गोल्ड का इस्तेमाल किया गया। रिडील पार्ट में पुरानी साड़ियों को रिसायकल कर नए गारमेंट तैयार किए गए, वे पहनने वाले दिव्यांग मॉडल्स पर खूब फब रहे थे। फाग फैशन भी अनूठा है। इसके लिए अंगरखा और धोती के जरिए हैरीटेज फैशन को साकार किया गया। पार्टी और लव-कैमेस्ट्री थीम भी अनोखी रही। 

इनका रहा सहयोग

अमर विकलांग और पुनर्वास केन्द्र की चेयरपर्सन डॉ.शाहीन अंसारी ने बताया कि अनन्या मानव सेवा समिति, स्नेह नगर की सचिव सुनीता जेम्स, अंचल विकलांग पुनर्वास, आनन पुनर्वास केन्द्र, वंदन पुनर्वास केन्द्र, मूकबधिर संघ, विकलांग सेवा भारती और तन्खा मेमोरियल हाईस्कूल की इस आयोजन में विशेष भूमिका रही। 2019 का नेशनल टैलेंट एंड फैशन शो ‘डिफ्रेंटली एबल्ड कलाकारों के भीतर छिपे इन्द्रधनुष को साकार करने में कामयाब रहा। 

180 दिव्यांग कलाकारों ने दिखाया जलबा

एक दशक पहले जो सपना देखा गया था, उसी की ताबीर अमर विकलांग व पुनर्वास केन्द्र की शक्ल में हुई है। यह केन्द्र दिव्यांगों की प्रतिभा को सार्वजनिक मंच देने कृतसंकल्पित है। अमर मानवता कल्याण समिति इस दिशा में निरंतर सक्रिय है। आयोजन में विभिन्न् विकलांग केन्द्रों के बच्चे प्रतिभागी रहे। शासकीय महिला पॉलीटेक्निक कॉलेज के फैशन टैक्नालॉजी विभाग की एचओडी डॉ.नीलम अग्रवाल, स्नेह कुमार जाट, प्राचार्य बीपी गुप्ता के निर्देशन में 180 दिव्यांग बच्चे हुनर का जलवा दिखाया। 

1,189 total views, 2 views today

You May Also Like