भारत ने पाकिस्‍तान से मोस्‍ट फेवर्ड नेशन का दर्जा लिया वापस,जानिए क्‍या होता है (MFN) और क्‍या है इसका मतलब

 गुरुवार को दक्षिण कश्‍मीर के पुलवामा में नींद उड़ा देने वाले आतंकी हमले में 44 जवान शहीद हो गए हैं।हमले के बाद भारत ने पाकिस्‍तान के खिलाफ सख्‍त कदम उठाया है। पाकिस्‍तान से मोस्‍ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस ले लिया गया है उरी आतंकी हमले के बाद भी भारत ने इस फैसले पर विचार किया था लेकिन उस समय भारत ने यह फैसला नहीं लिया था। जानिए आखिर क्‍या होता है मोस्‍ट फेवर्ड नेशन और कैसे पाकिस्‍तान को इससे फायदा मिलता है।

क्या है एमएफएन का दर्जा ?

व‍िश्‍व व्‍यापार संगठन और इंटरनेशनल ट्रेड नियमों के आधार पर व्यापार में सर्वाधिक तरजीह वाला देश (एमएफएन) का दर्जा दिया जाता है। एमएफएन का दर्जा दिए जाने पर देश इस बात को लेकर आश्वस्त रहते हैं कि उसे व्यापार में नुकसान नहीं पहुंचाया जाएगा। भारत ने पाकिस्तान को 1996 में एमएफएन का दर्जा दिया था। पाकिस्‍तान को जब यह दर्जा मिला तो इसके साथ ही पाकिस्तान को अधिक आयात कोटा देने के साथ और उत्‍पादों को कम ट्रेड टैरिफ पर बेचे जाने की छूट मिलती है। बता दें कि भारत की ओर से पाक को दिया गया यह दर्जा एकतरफा है। पाकिस्तान ने भारत को ऐसा कोई दर्जा नहीं दिया है

क्‍या होगा असर

एमएफएन का दर्जा वापस लेना इतना ज्‍यादा आसान इसलिए भी नहीं है क्‍योंकि भारत और पाकिस्‍तान के बीच होने वाले व्‍यापार का असर दक्षिण एशिया के अन्य देशों पर भी आ सकता है। अगर भारत पाकिस्‍तान से एमएफएन का दर्जा वापस लेता है तो पाकिस्‍तान से आने वाला ड्यूटी फ्री सीमेंट के आयात पर भी असर पड़ सकता है।

505 total views, 2 views today

You May Also Like