सबसे महान है छट पूजा का व्रत,36 घंटे का होता है निर्जला व्रत

छठ किसी व्रत या त्योहार का नाम नहीं है। यह हमारी सृष्टि का प्रतिबिंब है। दैनिक भास्कर ने दुनियाभर में सूर्य उपासना के विधानों का अध्ययन किया तो यह साफतौर पर नजर आया कि छठ दुनिया का सर्वश्रेष्ठ पावन व्रत है।तपस्या ऐसी कि जिसमें मांगने की जरूरत नहीं। व्रत करने के पीछे न कहीं लोभ है और न लालच। मन में बस एक संकल्प होता है और इस संकल्प में होती है निष्ठा और पूरी ईमानदारी। छठ की तिथि का ही कमाल है कि हवाएं रुख बदल लेती हैं, मन-मस्तिष्क में सौहार्द के भाव उत्पन्न होने लगते हैं। 

 

ईसलिये है महान

1) न मंदिर की ज़रूरत न मंत्र की।

2) स्वच्छता का है विशेष महत्व।

3) 36 घंटे का निर्जला व्रत।

4) सादगी को देते है बढ़ावा।

215 total views, 2 views today

You May Also Like