हमारी ज़िंदगी की ज़िम्मेदारी किसकी ? हमारी या पुलिस की ?

अमृतसर में हादसा हुआ। जिसकी सभी ने निंदा की,लेकिन इस हादसे से कई सवाल भी खडे हुए हैं। जिनके बारे में हमे सोचना चाहिए। ज्यादातर लोगों ने कहा कि हादसे के समय पुलिस प्रशासन ने लोगो को रेलवे ट्रैक से नही हटाया पर क्या हमारी ज़िंदगी प्रशासन के भरोसे रहेगी? क्या ये हमारी जिम्मेदारी नही है की हम अपना ध्यान खुद रखे? क्यों हमारी ज़िंदगी के तरफ हम इतने लापरवाह है? जब हमें पता है कि रेल्वे ट्रैक पर जाना खतरनाक है फिर भी हम वहाँ जाए पर ये हमारी गलती नही है गलती पुलिस की है जो हमे आकर वहाँ से हटाये। जो हुआ बेहद दुखद है। अब समय है अपनी ज़िम्मेदारी समझे।

312 total views, 1 views today

You May Also Like