बाबा रामदेव की डेयरी उत्पादों में एंट्री

योग गुरु स्वामी रामदेव का संस्थान ‘पतंजलि’ लगातार अपने दायरे को बढ़ाता जा रहा है। वीरवार को पतंजलि ने अपने कारोबार का दायरा बढ़ाते हुए डेयरी बिजनैस में भी दस्तक दे दी है। अब पतंजलि दूध, दही, छाछ और पनीर भी बेचेगा। इससे डेयरी बिजनैस में भी एक नई स्पर्धा होने की संभावना जताई जा रही है। इस साल मई में बाबा रामदेव ने पतंजलि के लिए 20,000 करोड़ रुपए की वार्षिक कमाई का लक्ष्य रखा है। उनके इस लक्ष्य को हासिल करने में डेयरी बिजनैस में उनकी एंट्री अहम भूमिका निभा सकती है। फिलहाल पतंजलि का कारोबार 10,000 करोड़ रुपए से ज्यादा का है। बाबा रामदेव इसे लगातार बढ़ाने में जुटे हुए हैं। 

जल्द ही कपड़ो को भी बेचेंगे

उन्होंने इस तरफ  भी इशारा किया कि वह अभी जींस, शर्ट, पैंट और कमीज जैसे अन्य कई सामान भी बेचेंगे। हालांकि 70 अरब डॉलर के डेयरी बिजनैस में पहले से ही कई मजबूत प्लेयर्स बैठे हुए हैं। इस इंडस्ट्री में पतंजलि की टक्कर सीधे अमूल, मदर डेयरी और क्वालिटी लिमिटेड जैसी कम्पनियों से होगी। अमूल डेयरी ने 2016-17 के दौरान अपने कारोबार से 27,085 करोड़ रुपए की कमाई की जो पिछले साल के मुकाबले 18 प्रतिशत ज्यादा थी। अमूल सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले डेयरी उत्पादों में से एक है। इसके बाद मदर डेयरी फ्रूट और वैजिटेबल्स प्राइवेट लिमिटेड का नाम आता है। वित्त वर्ष 2017 के दौरान मदर डेयरी ने 9 प्रतिशत का मुनाफा हासिल किया। इस मुनाफे की बदौलत कम्पनी ने 7,850 करोड़ रुपए की कमाई की।  रामदेव बाबा की डेयरी मार्कीट में एंट्री से इन कम्पनियों के सामने एक नया और मजबूत प्लेयर खड़ा होने की संभावना है। ऐसे में देखना होगा कि आने वाले समय में पतंजलि के डेयरी उत्पाद लोगों को कितना भाते हैं और इस इंडस्ट्री में जिसमें पहले से ही कई स्वदेशी प्लेयर मौजूद हैं, वहां वह अपना जादू बिखेर पाते हैं या नहीं, यह आने वाले दिनों में ही पता चलेगा।

111 total views, 1 views today

You May Also Like