जानें MP में किस जिले में कैसे हैं हालात

मोदी सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटते हुए एससी/एक्ट कानून में संशोधन के खिलाफ सवर्णों की तरफ से बुलाए गए भारत बंद का असर देश समेत मध्यप्रदेश मे देखने को मिल रहा है। एक्ट में किए गए संशोधन के विरोध में 35 संगठनों ने भारत बंद का ऐलान किया है। बंद को देखते हुए सबसे ज्यादा सतर्कता मध्यप्रदेश में बरती जा रही है। यहां 10 जिलों में धारा 144 लगा दी गई है और 35 जिलों को हाई अलर्ट जारी किया गया है।

इंदौर
इंदौर में सवर्णों के भारत बंद में व्यापारी भी साथ दे रहे हैं। इंदौर समेत संभाग के 35 जिलों में हाई अलर्ट है। स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई है। इंदौर में 50 से ज्यादा संगठनों ने बंद को समर्थन दिया है। अहिल्या चैंबर ऑफ कॉमर्स सहित व्यापारिक संगठन भी बंद में शामिल हैं। प्रशासन ने सबसे शांतिपूर्ण बंद की अपील की है।

भोपाल
भोपाल में करणी सेना के कार्यकर्ता गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह के बंगले पर पहुंच गए। इन लोगों ने बंगले का घेराव करने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उन्हें समझाकर वापस भेज दिया।

रीवा
रीवा में बंद समर्थकों ने सड़क पर टायर जला कर जाम लगा दिया।

ग्वालियर
एक्ट के विरोध में ग्वालियर में बाजार बंद है और किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए पुलिस लगातार फ्लैग मार्च कर रही है। 

खरगोन
खरगोन में सपाक्स समेत 30 संगठनों द्वारा एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में बुलाए गए भारत बंद का व्यापक असर नजर आया। सुबह खुलने वाले चाय-नाश्ते की दुकानें बंद नज़र आईं। वहीं, निजी स्कूल संचलकों ने अपने स्तर से निर्णय लकेर सुरक्षा की दृष्टि से छुट्टी घोषित कर दी।

टीकमगढ़
टीकमगढ़ में बीजेपी नेता प्रह्लाद पटेल को एससी-एसटी एक्ट के विरोध में काले झंडे दिखाए गए। सपाक्स कार्यकर्ताओं ने बीजेपी की बैठक के दौरान प्रह्लाद पटेल को काले झंडे दिखाए।

भिंड
भिंड जिला में एक्ट के विरोध को लेकर बाजार पूरी तरह से बंद है। हर जगह पुलिस तैनात है। लोगों ने अपनी दुकानों के बाहर पोस्टर लगाएं हैं जिन पर लिखा है ‘मैं सामान्य वर्ग का हूं, दुकानें अपनी स्वेछा से बंद रखूंगा’। सुरक्षा को देखते हुए पुलिस पेट्रोलिंग के वहानों से नजर रख रही है। वहीं, जिले के स्कूलों में छुट्टी कर दी गई है। यहां सवर्ण समाज के सैकड़ों युवकों ने रैली निकालकर प्रदर्शन किया।

जबलपुर
जबलपुर में बंद को लेकर प्रशासन अलर्ट है। यहां एक हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। बिना अनुमति के रैली और आम सभा पर रोक रहेगी। हंगामा करने वाले उपद्रवियों के खिलाफ विधि संगत कार्यवाही की जाएगी।

369 total views, 1 views today

You May Also Like