नहीं रहे देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी

देश के सबसे लोकप्रिय प्रधान मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का आज निधन हो गया। पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी का गुरुवार को शाम को 5 बजकर पांच मिनट पर देहांत हो गया। अटल बिहारी वाजपेयी एम्स में भर्ती थे। वे लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर थे। किडनी में संक्रमण, छाती में संकुचन और मूत्रनली में संक्रमण के चलते 93 वर्षीय पूर्व प्रधानमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता को 11 जून को भर्ती कराया गया था।  बुधवार को एम्स ने आपात बुलेटिन जारी कर पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी की हालत को नाजुक बताते हुए उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखे जाने की बात कही थी। एम्स ने गुरुवार को भी बुलेटिन जारी कर उनकी हालत के नाजुक बने रहने और लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखे जाने की जानकारी दी। वाजपेयी के स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए शनिवार से ही पक्ष-विपक्ष के राजनेता, केंद्रीय मंत्री, राज्यों के मुख्यमंत्री एम्स पहुंच रहे हैं। 

पीएम मोदी करीब 43 मिनट तक रहे

​अटल बिहारी वाजपेयी के पूर्व सलाहकार अशोक टंडन ने कहा कि भारत और विदेश में लोग उनके लिए प्रार्थनाएं कर रहे हैं। पूरा देश उनसे प्यार करता है। नेताओं की वर्तमान पीढ़ी उनसे  प्रेरणा लेती है। जिस तरह उन्होंने संसद में गरिमा को बनाए रखा वह अनुकरणीय है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को देखने के लिए फिर एम्स पहुंचे और यहां 43 मिनट तक रहे। पीएम ने एम्स डायरेक्टर से उनकी सेहत के बारे में बात की। कल भी पीएम एम्स आए थे। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी फिर एम्स पहुंचे। 

165 total views, 1 views today

You May Also Like